Ration Card नए नियम : राशन कार्ड के नियमों में हुआ बदलाव, जानिए क्या है नए नियम

यह गर्व की बात है कि देश में कई ऐसे लोग हैं जो फर्जी तरीके से राशन का फायदा उठा रहे हैं. खाद्य और सार्वजनिक वितरण विभाग के अनुसार, वर्तमान में देश भर में 80 करोड़ लोग राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम का लाभ उठा रहे हैं।

India Job Post: राशन कार्ड धारकों के लिए बड़ी खबर है। खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग ने राशन कार्ड धारकों के लिए नियमों में कुछ बदलाव किए हैं। राशन की दुकानों से राशन लेने वाले पात्र लोगों के लिए नियमों में बदलाव किया गया है। राज्य सरकारों के साथ बैठक की प्रक्रिया भी पूरी कर ली गई है।

मानक क्यों बदल रहे हैं?

गौरतलब है कि देश में कई ऐसे लोग हैं जो फर्जी तरीके से राशन का फायदा उठा रहे हैं. खाद्य और सार्वजनिक वितरण विभाग के अनुसार, वर्तमान में देश भर में 80 करोड़ लोग राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (NFSA) का लाभ उठा रहे हैं।

इनमें से कई लोग ऐसे भी हैं जो पूरी तरह से आर्थिक रूप से संपन्न हैं। इसी वजह से अब सरकार अपने नियमों में बदलाव करने जा रही है। नए मानक को पूरी तरह से पारदर्शी बनाया जाएगा, ताकि इसमें कदाचार न हो सके। राज्य सरकारों द्वारा दिए गए सुझावों को ध्यान में रखते हुए नए नियम तैयार किए जा रहे हैं जिन्हें जल्द ही लागू किया जाएगा।

एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड योजना

यह गर्व की बात है कि अब तक 32 राज्यों में ‘वन नेशन, वन राशन कार्ड’ योजना लागू की जा चुकी है। एनएफएसए के तहत आने वाले करोड़ों लाभार्थी यानी 86 प्रतिशत आबादी इस समय इस योजना का लाभ उठा रही है। हर महीने करीब 1\5 करोड़ लोग राशन को एक जगह से दूसरी जगह ले जा रहे हैं. सरकार लोगों की मदद के लिए मुफ्त राशन योजना को भी बढ़ावा दे रही है।

Important Links
Ration Card New Update Click Here
Ration Card New List
Click Here
Join Telegram Channel Click Here
Official Website Click Here
राशन कार्ड नियम: यदि आप राशन कार्ड का लाभ उठाते हैं तो यह खबर आपके काम की है। दरअसल, सरकार ने राशन बांटने के नियमों में बदलाव किया है और यह बदलाव जून से लागू किया जा रहा है. ऐसे में यहां जानिए ऐसे कौन से नियम हैं जिन्हें बदला जा रहा है।दरअसल, केंद्र सरकार की ओर से राज्यों में राशन कार्ड धारकों को मुफ्त में गेहूं और चावल का वितरण किया जाता है। यह सीमा पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत लागू की गई है। इसमें यह बदलाव किया गया है कि अब गेहूं की जगह चावल दिया जाएगा। इसके लागू होने से गेहूं की जगह चावल को और बेहतर तरीके से दिया जाएगा।

यूपी-बिहार और केरल में नहीं मिलेगा गेहूं

नए नियमों में गेहूं की सीमा घटा दी गई है। अब यूपी, बिहार और केरल में गेहूं नहीं बांटा जाएगा। वहीं, दिल्ली, गुजरात, झारखंड, एमपी, महाराष्ट्र, उत्तराखंड और पश्चिम बंगाल में गेहूं का कोटा कम किया गया है। इन राज्यों में कार्डधारकों को गेहूं कम और चावल ज्यादा मिलेगा। बाकी राज्यों में कोई बदलाव नहीं किया गया।

सरकार ने क्यों लिया ये फैसला

दरअसल गेहूं खरीद कम होने के कारण यह फैसला लिया गया है। खाद्य सचिव सुधांशु पांडेय ने बताया कि इस दौरान करीब 55 लाख मीट्रिक टन चावल का अतिरिक्त आवंटन किया जाएगा. यह बदलाव सिर्फ पीएमजीकेएवाई के लिए है। इसका असर यह होगा कि कुछ राज्यों में गेहूं कम होगा और पहले से ज्यादा चावल दिया जाएगा।

Important Links
Ration Card सरेंडर से जुडी डिटेल Click Here
Ration Card सरेंडर लिस्ट
Click Here
Join Telegram Channel Click Here
Official Website Click Here
केंद्र सरकार लगातार राशन कार्ड धारकों को सुविधाएं मुहैया करा रही है। अब बिना राशन कार्ड के भी ले सकते हैं गेहूं-चावल: अब केंद्र सरकार यानी केंद्र सरकार ऐसी सुविधा पर काम कर रही है,

जिसके बाद आप गेहूं, चावल आदि का राशन ले सकते हैं। राशन कार्ड नहीं।

वहीं, यह फीचर पहले यूपी में उपलब्ध था। उम्मीद है कि इसके बाद इसे अन्य राज्यों में भी लागू किया जाएगा।

Leave a Comment

You cannot copy content of this page